• May 19, 2024

आरोग्य-सेतु ऐप (Arogya Setu App) को लेकर इंडियन आर्मी ने जारी की एडवाइजरी, पाक खुफिया एजेंसी पर फर्जी ऐप बनाने का बताया शक

 आरोग्य-सेतु ऐप (Arogya Setu App) को लेकर इंडियन आर्मी  ने जारी की एडवाइजरी, पाक खुफिया एजेंसी पर फर्जी ऐप बनाने का बताया शक
Sharing Is Caring:

भारत देश में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए तैयार किया गया मोबाइल ऐप, ‘आरोग्य सेतु (Arogya Setu App)’ को लेकर भारतीय सेना ने अलर्ट जारी किया है जिसमे कहा है कि सैनिक इसे सिर्फ आधिकारिक प्लटेफार्म से ही मोबाइल फोन पर डाउनलोड करें। दरअसल, कुछ सैनिकों के पास इससे मिलता जुलते एक ऐप को लेकर मैसेज आ रहा था जो माना जा रहा है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों की करतूत हो सकती है।

आपको बता दे कि आरोग्य सेतु ऐप (Arogya Setu App) से मिलता जुलता एक एप, ‘आरोग्य सुते डॉट एपीके’ को लेकर कुछ सैनिकों के पास फोन पर मैसेज आ रहा था. जांच में पता चला कि इस ऐप को यूरोप के किसी देश में भी बनाया गया है।scientists at work in the lab l 2

सूत्रों की मानें तो ये पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी की करतूत हो सकती है जो इस फर्जी ऐप के जरिए भारतीय सैनिकों से जुड़ी जानकारी इकठ्ठा करने कि कोशिश में थी।

इस तरह के मैलेशियस एप को अगर मोबाइल फोन में अगर डाउनलोड कर लिया जाए तो फोन में मौजूद कंटेक्ट-लिस्ट से लेकर लोकेशन, तस्वीरें और वीडियो सहित सभी जानकारी इस ऐप के एडमिन तक पहुंच सकती है जिसके कारण है कि भारतीय सेना ने आधिकारिक एकाउंट से ट्वीट कर सभी सैनिकों को ‘माई-जीओवी डॉट इन’ से ही डाउनलोड करने का निर्देश दिया है साथ ही साथ इसके अलावा आरोग्य-सेतु ऐप को गूगल-प्ले स्टोर या फिर एप्पल स्टोर से ही डाउनलोड करने का निर्देश दिया जारी किया गया है।

Google Play Store Link: https://play.google.com/store/apps/details?id=nic.goi.aarogyasetu

आपको बताते चले कि कोरोना वायरस के खिलाफ भारत सरकार ने आरोग्य सेतु ऐप तैयार किया है और सभी नागरिकों को डाउनलोड करने के लिए सुझाव भी दिया है। इस ऐप के जरिए COVID-19 पॉजिटिव की कंटेक्ट-ट्रेसिंग का पता लगाया जा सकता है और साथ ही COVID-19 से जुड़ी एडवायजरी के बारे में भी अलर्ट मिल सकता है ताकि इस खतरनाक वायरस को फैलने से रोका जा सके जिसके लिए यह एप्प को जारी किया गया हैं।

गृह मंत्रालय ने सभी अर्द्ध-सैनिक बलों के जवानों को भी अपने फोन में इस ऐप को डाउनलोड करने का निर्देश दिया है। लेकिन सेना ने अपने सैनिकों को इस ऐप को लेकर कुछ गाइडलाइन जारी की थीं। सैनिको को हिदायत दी गई है कि किसी भी मिलिट्री स्टेशन या छावनी में दाखिल होने के दौरान अपनी लोकेशन ऑफ कर दें। साथ ही ऐप पर अपनी रैंक, पोस्टिंग इत्यादि से जुड़ी जानकारी साझा ना करने का आदेश देते हुए भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने सतर्क किया है।

Sharing Is Caring:

Admin

https://nirmanshalatimes.com/

A short bio about the author can be here....

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *