• May 29, 2024

CMS छात्र व्योम आहूजा को महापौर संयुक्ता भाटिया ने किया सम्मानित

 CMS छात्र व्योम आहूजा को महापौर संयुक्ता भाटिया ने किया सम्मानित

CMS छात्र व्योम आहूजा को महापौर संयुक्ता भाटिया ने किया सम्मानित

Sharing Is Caring:

लखनऊ, 19 फरवरी। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) के बहुमुखी प्रतिभा के धनी कक्षा-7 के छात्र व्योम आहूजा को आज विद्यालय के ऑडिटोरियम में आयोजित एक भव्य सम्मान समारोह में लखनऊ की मेयर संयुक्ता भाटिया ने सम्मानित किया एवं CMS द्वारा प्रदत्त एक लाख रूपये का चेक भेंटकर पुरष्कृत किया। व्योम ने अपनी बहुमुखी प्रतिभा से लखनऊ का नाम पूरे देश में गौरवान्वित किया है और उसकी अभूतपूर्व प्रतिभा हेतु प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ‘प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कार-2021’ से पुरष्कृत कर सम्मानित किया है। इसके अलावा, अभी हाल ही में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी व्योम से मुलाकात कर उसे सम्मानित किया है। इसी संदर्भ में आज यहाँ CMS गोमती नगर (प्रथम कैम्पस) ऑडिटोरियम में आयोजित एक प्रेस कान्फ्रेन्स में CMS संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने पत्रकारों से विस्तृत चर्चा-परिचर्चा की, साथ ही व्योम ने भी अपनी शिक्षा-दीक्षा व विभिन्न उपलब्धियों पर दिल खोलकर बातचीत की।

इससे पहले, सम्मान समारोह में बोलते हुए मेयर संयुक्ता भाटिया ने कहा कि समस्त लखनऊवासियों के लिए यह बड़ी प्रसन्नता का विषय है कि CMS के छात्र लगातार राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर लखनऊ का गौरव बढ़ा रहे हैं। CMS के छात्र व्योम आहूजा ने प्रधानमंत्री जी एवं मुख्यमंत्री जी के हाथों सम्मानित होकर हम सभी को एक सुखद अहसास कराया है। मैं व्योम के अत्यन्त उज्जवल भविष्य की कामना करती हूँ, साथ ही CMS का भी आभार व्यक्त करती हूँ, जो अपने छात्रों को नित नई ऊचाईयाँ छूने को प्रोत्साहित कर रहा है और उनका मार्गदर्शन कर रहा है।

यह भी पढ़ें : Singing Competition, गायन प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार CMS छात्रा को

इस अवसर पर CMS संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने व्योम का आशीर्वाद देते हुए कहा कि व्योम ने अपनी अद्वितीय प्रतिभा से लखनऊ का नाम रोशन किया है, जिस पर CMS परिवार ही नहीं अपितु सम्पूर्ण लखनऊवासियों को गर्व है। CMS द्वारा एक लाख रूपये का यह पुरस्कार उसकी नैसर्गिक प्रतिभा का और अधिक प्रोत्साहित करेगा, साथ ही अन्य छात्रों को भी इससे प्रेरणा मिलेगी। डा. गाँधी ने विद्यालय के शिक्षकों का भी आभार व्यक्त किया जो छात्रों की रूचियों को पहचान कर उन्हें उनकी रूचि के क्षेत्रों में बढ़ावा देने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं।

Sharing Is Caring:

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *